Golden Rule of Accountancy (Account Notes)

Golden Rule of Accountancy (Account Notes)

हर लेन – देन दो खातों को प्रभावित करता है. इसीलिए इसे दोहरी प्रविष्टि प्रणाली बहीखाता कहा जाता है.

 

लेखा के स्वर्ण नियम (Golden Rule of Accountancy)

 

पर्सनल A/C रियल A/C नॉमिनल A/C
डेबिट – प्राप्तकर्ता (पाने वाले) को

(Debit The Receiver)

डेबिट  – जो आता है

Debit What Comes In

डेबिट – खर्च और हानि

Debit  All Expenses And Losses

क्रेडिट- दाता ( देने वाले) को

Credit The Giver

क्रेडिट – जो जाता है

Credit What Goes Out

क्रेडिट – मुनाफा और लाभ

Credit All Income And Gains

E-Global India institute Jaora |   Mo. 7869432733 |  website:- www.egiit.in

 

उदाहरण के लिए मान लीजिये

अप्रैल 1 . 
शिवम 50,000  रुपये से  व्यापर प्रारंभ करता है.

अप्रैल 2 .

10,000 रुपये बैंक में जमा करता है.

 

अप्रैल 3 .

20,000 रुपये का सामान खरीदता है.

 

अप्रैल 4.

1,500 रुपये का सामान बेचता है.

 

अप्रैल 5.

1,000  रुपये मकान मालिक  को किराया देता है.

 

मार्च  10 .

50 रुपये बैंक ब्याज मिलता है.

इस प्रश्न को बनाने के पहले हमें ये निर्धारित करना होगा कि इन सारे लेन – देन  किन खातों के अंतर्गत आते है.

अप्रैल 1 . 

शिवम 50,000  रुपये से  व्यापर प्रारंभ करता है.

 

Capital A/C  – Personal A/C के अंतर्गत आता है. ( कैपिटल अकाउंट मालिक का अकाउंट होता है. )
Cash A/C – Real A/C  के अंतर्गत आता है.

पर्सनल A/C रियल A/C नॉमिनल A/C
डेबिट – प्राप्तकर्ता (पाने वाले) को

Cash

क्रेडिट- दाता ( देने वाले) को

Capital

E-Global India institute Jaora |   Mo. 7869432733 |  website:- www.egiit.in

इसलिए,

     Capital A/C – Cr.———————-50,000
Cash A/C –   Dr.———– 50,000

 

अप्रैल 2 .

10,000 रुपये बैंक में जमा करता है.

 

Bank A/C  – Personal A/C के अंतर्गत आता है.

Cash  A/C – Real A/C के अंतर्गत आता है.

पर्सनल A/C रियल A/C नॉमिनल A/C
डेबिट – प्राप्तकर्ता (पाने वाले) को

Bank

क्रेडिट- दाता ( देने वाले) को

Cash

E-Global India institute Jaora |   Mo. 7869432733 |  website:- www.egiit.in

 


Bank A/C –   Dr.———– 10,000

       Cash A/C-  Cr.———————- 10,000


अप्रैल 3 .

20,000 रुपये का सामान खरीदता है.

Purchase A/C  – Real A/C के अंतर्गत आता है.

Cash  A/C – Real A/C के अंतर्गत आता है.

 

पर्सनल A/C रियल A/C नॉमिनल A/C
डेबिट  – जो आता है

Purchase

क्रेडिट – जो जाता है

Cash

E-Global India institute Jaora |   Mo. 7869432733 |  website:- www.egiit.in

 

इसलिए,
Purchase A/C –   Dr.———– 20,000
       Cash A/C –                Cr——————20,000

 

अप्रैल 4.

1,500 रुपये का सामान बेचता है.

 

Cash A/C  – Real A/C के अंतर्गत आता है.

Sales  A/C – Real A/C के अंतर्गत आता है.

 

पर्सनल A/C रियल A/C नॉमिनल A/C
डेबिट  – जो आता है

Cash

क्रेडिट – जो जाता है

Sales

E-Global India institute Jaora |   Mo. 7869432733 |  website:- www.egiit.in


इसलिए,
Cash A/C –   Dr.———– 1,500

 

 Sales A/C – Cr.———————- 1,500

 

अप्रैल 4.

1,000  रुपये मकान मालिक को किराया देता है.

Cash A/C  – Real A/C के अंतर्गत आता है.

Rent  A/C – Nominal A/C के अंतर्गत आता है.

 

 

पर्सनल A/C रियल A/C नॉमिनल A/C
डेबिट – खर्च और हानि

Rent

क्रेडिट – जो जाता है

Cash

E-Global India institute Jaora |   Mo. 7869432733 |  website:- www.egiit.in

इसलिए,
Rent A/C –   Dr.———– 1,000
 Cash A/C – Cr.———————- 1,000

मार्च  10 .

50 रुपये बैंक ब्याज मिलता है.

 

 

Cash A/C  – Real A/C के अंतर्गत आता है.

Rent  A/C – Nominal A/C के अंतर्गत आता है.

 

पर्सनल A/C रियल A/C नॉमिनल A/C
डेबिट  – जो आता है

Cash

क्रेडिट – मुनाफा और लाभ

Interest


इसलिए,
 Cash A/C – Dr.———————- 50
Interest A/C –   Cr.———– 50

 Golden Rule of Accountancy (Account Notes)

  1. Personal Accounts

2.Real Accounts

3.Nominal Accounts

1.What is Personal Accounts?

Personal Accounts ये किसी नाम से सम्बंदित होते है.और इन की एंट्री करने का एक अलग नियम होता है.

For Example:-

Naresh Enterprises,syam Pvt Ltd., Rajesh &co. etc. ये सभी personal Accounts में आते है.

What is Rules of Personal Accounts?

Debit the Receiver(प्राप्त करने वाले को Debit करो)

Credit the Giver(देने वाले को Credit करो)

For Example:-

राम ने श्याम को Rs.10000 चुकाए.

इस में राम ने श्याम को Rs.10000 रुपे दिए है. इस लिए राम देने वाला है तो हम राम के account को Credit करे गे.

श्याम इस में प्राप्त करने वाला है इस लिए हम श्याम के account को Debit करे गे.

ये एंट्री इस प्रकार होगी.

Shyam A/c Dr. Rs.10000

  To Ram A/c              Rs.10000

What is Real Account?

Real Account ये किसी Assets या वस्तु से सम्बंदित होते है.

For Example:-

Building,Machinery,Furniture,Land,Goods,Cash etc.

What is Rules of Real Accounts?

Debit Whats Comes In(जो व्यपार में आये उसे Debit करो)

Credit Whats Goes Out(जो व्यपार से जाये उसे Credit करो)

For Example:-.

मशीन खरीदी नगद Rs.50000.

मशीन हमारी Real Account में आती है इस लिए इस पर हमारा Real Accounts वाला नियम लागु होगा.क्योकि मशीन व्यपार में आई है तो इस लिए नियम के अनुसार मशीन को Debit करे गे.

और नगदी भी अमर Real Accounts में आती है और नगदी व्यपार से गई है नियम के अनुसार इसे Credit करे गे.

एंट्री इस प्रकार होगी.

Machinery A/c Dr. Rs.50000

     To Cash A/c             Rs.50000

What is Nominal Account?

ये खाते लाभ और हानि से सम्बंदित होते है.

For Example:-

Salary,Wages,Rent,Purchase,Sales etc.

Rules of Nominal Account

Debit all Expenses & Losses(सभी खर्चो और घातो को Debit करो )

Credit all Income & Gains(सभी आय और लाभों को Credit करो)

For Example:-

Paid Rant for Cash Rs.10000.

इस में जो Rent का भुगतान किया और ये हमारा Nominal accounts के अंतर्गत आता है तो ये हमारा खर्च हो गया और Nominal Account नियम के हिसाब से हमे ये rent Account को Debit करना है.

और दूसरी और व्यपार से नकदी गई है नगदी हमारी Real Accounts के अन्तेर्गत आता है. नियम के हिसाब से ये Credit होगा.

Entry इस प्रकार होगी.

 

 

Rent A/c Dr,  Rs.10000

     To Cash A/c     Rs.10000

Goods Sold for cash Rs.15000.

 

 

इस एंट्री में हमने माल को विक्रय किया है और विक्रय हमारा nominal Account के अन्तेर्गत आता है.और ये हमारी आय भी है नियम के हिसाब से हम इसे Credit करे गे.

और नगदी व्यपार में आई है और नगदी हमारी Real Account के अन्तेर्गत आती है और नगदी व्यपार में आई है नियम के हिसाब से इसे हम Debit करे गे.

एंट्री इस प्रकार होगी.

 

Cash A/c Dr.  Rs.15000

       To Sales A/c Rs.15000

 

Golden Rule of Accountancy (Account Notes)

Note:- पोस्ट को हम बहुत ही सरल भाषा में लिख रहे है ताकि सभी आसानी से पड़ सकते.

 

Leave a Reply