GST: जीएसटीआर 9 कैसे भरें | How To File GSTR- 9 (Form format in Hindi)

सरकार ने जीएसटी का वार्षिक रिटर्न फॉर्म GSTR-9 जारी कर दिया है। इसे वर्ष 2018 के अंत तक यानी कि 31 दिसंबर 2019 तक भरना अनिवार्य है। इस लेख में हम जानेंगे कि जीएसटीआर 9 क्या होता है? इसमें क्या क्या चीजें भरी जाती हैं? और रिटर्न भरते समय किन-किन बातों का ध्यान रखना है।

Note: जीएसटीआर-9 के फॉर्मेट समझाने के लिए हमने सीबीईसी की ओर से उपलब्ध कराए गए PDF Format वाले फॉर्म को आधार बनाया है। फॉर्म चाहे ऑफलाइन भरा जाए या ऑनलाइन, आपको यही डिटेल उनमें देने होते हैं। फॉर्म भरने की प्रक्रिया जानने के पहले इसकी कुछ विशेषताओं को भी जान लेना बेहतर होगा।

जरूर पढ़ें- जीएसटी क्या है और कैसे लगता है

जीएसटीआर-9 क्या है?

What is GSTR-9?

जीएसटीआर-9, वह रिटर्न फॉर्म है, जो जीएसटी सिस्टम में रजिस्टर्ड कारोबारियों को हर साल के अंत में भरना पड़ता है। कारोबारी ने अपने साल भर के व्यापार के दौरान जो मासिक या तिमाही रिटर्न (जीएसटीआर 1, जीएसटीआर 2, जीएसटीआर 3, जीएसटीआर 4, जीएसटीआर 8) भरे होते हैं, उन सभी जानकारियों का इकट्ठा विवरण इसमें दर्ज करना होताा है। कंपोजिशन स्कीम, ई कॉमर्स ऑपरेटर्स को भी यह रिटर्न भरना अनिवार्य है।

किसे भरना जरूरी है जीएसटीआर 9

Who Need file GSTR-9?

कुछ विशेष श्रेणियों के कारोबारियों को छोड़कर? जीएसटी में रजिस्टर्ड सभी कारोबारियों को यह सालाना रिटर्न जीएसटीआर 1 भरना अनिवार्य होता है। कंपोजिशन स्कीम लेने वालों को भी, जिन्हें कि हर तिमाही पर रिटर्न दाखिल करना होता है, उन्हें भी जीएसटीआर-9 दाखिल करना अनिवार्य होता है।

किसे जीएसटीआर-9 भरना अनिवार्य है?

जीएसटी में रजिस्टर्ड सभी सामान्य कारोबारी| All Registered Traders

कंपोजिशन स्कीम में रजिस्टर्ड कारोबारी | Coposite Scheme Holders

ई-कॉमर्स ऑपरेटर्स, जो टीसीएस काटते हैं | E- Commerce Operaters

2 करोड से उूपर टर्नओवर वाले कारोबारी, जिनका अकाउंट ऑडिट होना अनिवार्य है

किनको जीएसटीआर-9 भरने से छूट है?

अस्थायी कारोबार करने वाले | Casual Taxable Person

इनुपुट सर्विस डिस्ट्रीब्यूटर्स | Input service distributors

विदेशी नागरिक जो भारत में कारोबार करते हैं और टैक्स भरते हैं

जीएसटी की धारा 51 के तह टीडीएस चुकाने वाले कारोबारी

चार तरह के होते हैं जीएसटीआर- 9

कारोबारियों की अलग-अलग श्रेणियों के अनुसार कुल चार प्रकार के जीएसटीआर-9 होते हैं। किस प्रकार के कारोबारी को कौन सा फॉर्म भरना है, इसे आप नीचे टेबल में देख सकते हैं।

GSTR-9                 जीएसटी में रजिस्टर्ड सामान्य कारोबारियों के लिए, जिन्होंने वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान किए गए अपने कारोबार के संबंध में, GSTR-1, GSTR-2 and GSTR-3 दाखिल किया है

GSTR-9A              जीएसटी की कंपोजिशन स्कीम के तहत रजिस्टर्ड कारोबारियों के लिए, जिन्होंने गुजरे वित्त वर्ष के दौरान अपने कारोबार के संबंध में हर तिमाही पर जीएसटीआर-4 दाखिल किया है।

GSTR-9B               ई कॉमर्स ऑपरेटरों के लिए, जिन्होंने गुजरे वित्त वर्ष के दौरान GSTR-8 भरे हैं। इन्हें जीएसटी के तहत TCS (Tax collected at source) काटने का अधिकार होता है।

GSTR-9C               सालाना 2 करोड़ रुपए से अधिक टर्न ओवर वाले कारोबारियों के लिए, जिनके अकाउंट ऑडिट होने की जरूरत होती है।

जीएसटीआर 9 की अंतिम तिथि क्या होती है?

What is last Date To file Form GSTR-9?

अपने कारोबार से संबंधित वित्त वर्ष के पूरा होने के तुरंत बाद आने वाली 31 दिसंबर तक जीएसटीआर—9 को दाखिल कर दिया जाना अनिवार्य है। उदाहरण के लिए, वित्त वर्ष 2017-18 के कारोबार के लिए सालाना रिटर्न जीएसटीआर—9 को 31 दिसंबर 2018 तक भरना अनिवार्य होता है।

विलंब से जीएसटीआर-9 भरने पर लेट फीस क्या है?

What is Penalty for the late filing of GSTR-9?

अगर आप अंतिम तिथि (31 दिसंबर) तक जीएसटीआर 9 दाखिल नहीं करते हैं तो 100 रुपए प्रतिदिन के हिसाब से पेनाल्टी पड़ती है। केंद्र के जीएसटी (CGST) और राज्य के जीएसटी (SGST) दोनों के लिए अलग-अलग 100 रुपए प्रतिदिन पेनाल्टी के पड़ते हैं। यानी कि 200 रुपए प्रतिदिन। यह पेनाल्टी अधिकतम कारोबारी के कुल टर्नओवर के 25 प्रतिशत तक हो सकती है। लेकिन, आईजीएसटी के लिए कोई विलंब शुल्क नहीं है।

जीएसटीआर में क्या डिटेल भरे जाते हैं?

Details To Be Filled In GSTR-9

जीएसटीआर-9 में वस्तुओं और सेवाओं के व्यापार, इनपुट क्रेडिट, टैक्स भुगतान आदि से संबंधित विवरणों का मोटा—मोटा विवरण (Summary) देनी होती है। ये सारी जानकारियां कई सारी सारणियों (Tables) में भरी जाती हैंं।  फॉर्म को थोड़ा जल्दी और आसानी से समझने के लिए हमने इसे कुल 6 हिस्सों में विभाजित कर लिया है। किस भाग में कौन सी चीज भरी जानी है, उनका विवरण इस प्रकार है—

भाग-1     Basic details of the taxpayer: इस हिस्से में रिटर्न भरने वाले के व्यक्तिगत विवरण भरे जाते हैं। जैसे कि GSTIN नंबर और रिटर्न भरने वाले का नाम .Name of the Taxable Person. चूंकि आप पहले से जीएसटी पोर्टल पर रजिस्टर्ड होते हैं और अपने जीएसटिन नंबर पर कई रिटर्न भर चुके होते हैं, इसलिए लॉगइन करने पर ये  विवरण फॉर्म में अपने आप भरे मिलते हैं।

भाग-2     Details of Outward and Inward supplies: वित्त वर्ष के दौरान सभी बिक्रियों (Outward supplies) और खरीदारियों (Inward supplies) का विवरण। इसमें साल भर के दौरान भरे गए सभी रिटर्न (मासिक/त्रैमासिक) में दी गई जानकारियों का इकट्ठा (संक्षेप में-Summary) विवरण देना होता है।

भाग-3     Details of Input Credit: इसमें, कारोबार वाले वित्त वर्ष के दौरान हा​सिल किए गए इनपुट टैक्स क्रेडिट की जानकारी देनी होती है। साल के दौरान जो भी आपने रिटर्न दाखिल किए हैं, उनमें इनका उल्लेख रहता है। उनका सबका संक्षिप्त ब्यौरा (summarised values) जीएसटीआर-9 में भरना है।

भाग- 4  Details of tax paid: इस हिस्से में आपको साल भर के दौरान चुकाए गए कुल जीएसटी टैक्स का ब्योरा देना है। इसके भी तथ्य आपको साल के दौरान भरे गए रिटर्न में मिल जाएगा।

भाग 5    summary of amendment or omission entries: कारोबारी वित्त वर्ष के दौरान हुए सौदों में बदलाव या संशोधन के कारण हुए लेन-देन संबंधी विवरण।

भाग 6    अन्य जानकारियां |Other Information

इस हिस्से में आपको निम्नलिखित जानकारियां भरनी होती हैं—

GST की मांगों (Demands) और वापसी (refunds) संबंधी विवरण

HSN कोड के हिसाब से बेची गईं और खरीदी गई वस्तुओं की मात्रा quantity और उन पर चुकाए गए जीएसटी का विवरण भी।

विलंब शुल्क अगर अगर किसी तरह का जमा करना पड़ा हो, या जमा करना हो उसका डिटेल

कंपोजिशन स्कीम वाले कारोबारियों से खरीदे गए माल और ऐसे सौदे जिनको अप्रूव किया जाना है, उनका विवरण।

घोषणा |declare

फॉर्म में सभी मांगे गए डिटेल भरने के बाद अंत मेें, आपको एक छोटी सी घोषणा (Declaration) करनी होती है कि आपने रिटर्न में जो भी जानकारियां दी हैं, वे सभी सत्य है, सही हैं और हर तरह से पूर्ण हैं। यह भी कि आपके पास उस रिटर्न को जमा करने का वैध अधिकार (legal authority) है।

Place:

Date: (Signature of Authorized Person)

घोषणा के ठीक नीचे आपको रिटर्न भरने की जगह (शहर का नाम) और तारीख के साथ अपने हस्ताक्षर भी करने होते हैं।

One thought on “GST: जीएसटीआर 9 कैसे भरें | How To File GSTR- 9 (Form format in Hindi)

  1. Dear sir
    If a man unfortunately not paid his gst in the 1 feb 2019 to 15 feb 2020. So please provide the right solution. What he do.
    Bec. His c.a suddenly not into the universe

Leave a Reply

Please Subscribe

 

PLEASE SUBSCRIBE FOR MORE EDUCATIONAL NEWSLETTER & UPDATES

Recent Posts

E-Global India Institute vision 2026
E-Global India Institute vision 2026

STUDENT RESULT

EGIIT RESULTS