what is Depreciation in hindi

importants of English language

Importance of english in india

भारत में 10% जनसंख्या अंग्रेजी भाषा बोलती है। देश में अंग्रेजी का महत्व हर दिन बढ़ता जा रहा है। ज्यादातर कम्पनियों में उन्ही लोगो को नौकरी दी जाती है जिन्हें अग्रेजी आती है। भारत में राष्ट्रभाषा हिंदी को माना गया है पर हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में काम अंग्रेजी भाषा में होते हैं।

भारत में दक्षिणी राज्य जैसे कर्नाटक तमिलनाडु केरला आंध्र प्रदेश उड़ीसा कोलकाता जैसे राज्यों में वहां की स्थानीय भाषा बोली जाती है। ऐसी स्थिति में अंग्रेजी का महत्व बढ़ जाता है। जिन लोगों को अंग्रेजी आती है वह वहां पर जाकर आसानी से लोगों से बात कर सकते हैं। जिन्हें अंग्रेजी नहीं आती है उन्हें देश में भी बड़ी समस्या का सामना करना पड़ता है।

तमिलनाडु आंध्र प्रदेश केरला जैसे राज्यों में हिंदी बहुत ही कम लोग जानते हैं। वे स्थानीय भाषा या अंग्रेजी भाषा ही जानते हैं। ऐसे में अंग्रेजी का महत्व बढ़ जाता है। उत्तर भारतीय लोग अंग्रेजी में बड़े ही आसानी से दक्षिण भारतीय लोगों से बात कर लेते हैं। देश में अंग्रेजी इतनी जरूरी हो गई है कि मां बाप अपनी जीवनशैली में कटौती कर सकते हैं पर बच्चों को पढ़ने के लिए इंग्लिश मीडियम स्कूल में भेजते हैं।

Importance of English communication skills

अंग्रेजी एक ऐसी भाषा है जो विश्व भर में बोली जाती है। जो लोग अंग्रेजी जानते हैं वह कहीं भी जाकर आराम से संवाद कर सकते हैं। भारत में अंग्रेजी का प्रचलन अंग्रेजों के आने के बाद शुरू हुआ। देखते ही देखते यहां इंग्लिश मीडियम स्कूल खुलने लगे। जो शिक्षा पहले हिंदी में दी जाती थी अब अंग्रेजी में दी जाने लगी।

विश्व में अंग्रेजी भाषा का महत्व Importance of English language in world

भाषा का बड़ा फायदा है कि इसके द्वारा विदेशों में आसानी से दूसरे लोगों से बात कर सकते हैं। भारतीय लोग अधिकतर हिंदी भाषा का इस्तेमाल करते हैं पर आजकल बहुत से भारतीय विदेशों में जाकर नौकरियां करते हैं। अमेरिका ब्रिटेन रूस सऊदी अरब जैसे देशों में भारतीयों की जनसंख्या बहुत अधिक है। वे सभी अंग्रेजी भाषा में वहां के लोगों से बात करते हैं।

व्यापार के लिए अंग्रेजी भाषा का महत्व English in business communication

यह बिजनेस (व्यापार) करने की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है। अधिकतर व्यापार अंग्रेजी भाषा में किया जाता है। कंप्यूटर और इंटरनेट के युगकी शुरुआत होने के बाद अब अंग्रेजी का महत्व और अधिक बढ गया है। क्योंकि ज्यादातर व्यापार ऑनलाइन होने लगा है। बिस्कुट साबुन क्रीम पाउडर किताबें दवाये सभी कुछ ऑनलाइन बिकने लगा है।

ऐसे में जिन लोगों को अंग्रेजी आती है वो ऑनलाइन जाकर कोई भी वस्तु खरीद सकते हैं। व्यापारियों के लिए तो अंग्रेजी बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि अपना प्रोडक्ट (माल) इंटरनेट पर बेचना पड़ता है। ऐसे में अंग्रेजी भाषा जानना उनके लिए जरूरी हो गया है। GST और दूसरे टैक्स की लिखा पढ़ी भी अंग्रेजी में होती है।

इसके साथ ही बैंकों में अंग्रेजी का इस्तेमाल बढ़-चढ़कर किया जाता है। पैसे निकालने और जमा करने के लिए भी लोग इंग्लिश में फॉर्म भरते हैं। देश में डिजिटल क्रांति होने के बाद पैसों का लेन-देन मोबाइल फोन और कंप्यूटर के द्वारा किया जाता है जिसमें अंग्रेजी भाषा का इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए आज अंग्रेजी भाषा का महत्व बहुत अधिक बढ़ गया है  

हमारे जीवन में अंग्रेजी का बहुत महत्व है। आज के समय जो लोग अंग्रेजी भाषा नहीं जानते हैं वह अपने आपको पिछड़ा हुआ पाते हैं। अंग्रेजी विश्व की तीसरी सबसे अधिक बोली जाने वाली भाषा है जबकि मंडारिन (चीन की भाषा) और स्पेनिश विश्व में सबसे अधिक बोली जाती है। अंग्रेजी 67 देशों में बोली जाती है।

हमारे देश में अंग्रेजी का महत्व बहुत अधिक बढ़ गया है। सब जगह इंग्लिश मीडियम स्कूल खुल गए हैं। हर मां-बाप चाहता है कि उसके बच्चे को अंग्रेजी भाषा बोलना आये। आजकल कंप्यूटर से जुड़ी अधिकतर चीजें अंग्रेजी में होती हैं। सोशल मीडिया पर भी अंग्रेजी का इस्तेमाल बढ़-चढ़कर किया जाता है।

Leave a Reply

Please Subscribe

 

PLEASE SUBSCRIBE FOR MORE EDUCATIONAL NEWSLETTER & UPDATES

Recent Posts

E-Global India Institute vision 2026
E-Global India Institute vision 2026

STUDENT RESULT

EGIIT RESULTS